Social Media

आपको तो कुछ नहीं हुआ न

  •  
  •   
  •   
  •   
  •   
  •  
  •  
  •  
  •  

पक्के समाजवादी हैं तस्कर हों या डकैत
इतना असर है खादी के उजले लिबास में।

काजू भुने हैं प्लेट में विस्की गिलास में 
उतरा है राम राज विधायक निवास में।।

मरहूम अदम गोंडवी साहेब की ये लाइनें आज पूरे शर्मोह्या और होशोहवास में फेंकता हूँ उत्तर प्रदेश की सरकार के मुँह पर .. कारण नहीं जानना चाहेंगे !! इस निजाम का गुंडई से गठजोड़ देखिये ..

इटावा , आजमगढ़ को ध्यान में रखते हुए .. बदायूँ के गैंगरेप और उसके बाद हत्या की घटना में मारी गयीं दोनों लड़कियों के पिता कहते हैं …… मेरी बेटियाँ लाश मिलने से पहले मंगलवार से लापता थीं .. हमारे पुलिस चौकी में शिकायत के बाद पुलिस बलात्कारिओं को चौकी पर बैठा कर खाना खिलाती है और समझाती है की बलात्कार से अच्छा और सेफ रास्ता है हत्या के मुक़दमे का सामना करना … और उसके बाद मेरी लड़किओं की लाश अगले कुछ घंटों में पेड़ से लटकती मिलती है। मुझे घटना की CBI जाँच चाहिए .. प्रदेश सरकार पर मुझे भरोसा नहीं।

केंद्र सरकार द्वारा कल घटना और कार्यवाही की जानकारी लेने के बाद पीड़ित परिवार के पास अन्य राजनितिक दलों के नेता सहित कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गाँधी के कल जाने की सूचना है … लेकिन अभी यह पोस्ट लिखने तक समाजवादी पार्टी का कोई नेता , मंत्री , विधायक , सांसद नहीं पहुंचा। हाँ रूपये से अपना धर्म निभाने वाली समाजी निजाम ने पाँच लाख जरुर देने का फरमान जारी कर दिया .. अभियुक्त अभी भी फरार हैं सिवाय दो पुलिसकर्मिओं (सिपाही) की बर्खास्तगी और उनमे से भी मात्र एक की गिरफ्तारी के साथ।

[quote]ये है नेता जी के बच्चो की गलतिओं पर निजाम का लगाम … जहाँ मुख्यमंत्री की प्रेस कांफ्रेंस पर घटना पर सवाल पूछने वाली महिला रिपोर्टर को सदरे रियासत का जबाब …” आपको तो कुछ नहीं हुआ न !! “[/quote]

शर्म ओढ़ते हुये बस इतना ही कहूँगा .. बदायूँ शहर में ही मैंने स्कूल जाने की शुरुआत की थी .. इसी भावनात्मक नाते के साथ .. जिले पर लगे इस कलंक और पीड़ित परिवार पर मरहम लगाने को केन्द्रीय सरकार से बड़े जिम्मेदार को भेजा जाय … बाकी तो शर्मिदा हम हैं ही।

Admin
संपादक