यहां अवतरित हुई सीता यहीं पर जन्मीं द्रौपदी

पटना से 105 किलोमीटर तथा मुजफ्फरपुर से 53 किलोमीटर दूर सीतामढ़ी , पौराणिक आख्यानों में त्रेतायुगीन शहर के रूप में वर्णित है । त्रेता युग

Read More

हरिवंश वर्णन (श्री कृष्ण कथा)

गरुड़ पुराण के अनुसार , ब्रह्मा जी ने कहा —-अब मैं हरिवंश का वर्णन करूंगा , जो भगवान कृष्ण के महात्म्य से परिपूर्ण होने के

Read More

संसार के प्रथम संदेश वाहक थे ‘नारद मुनि’

हिंदू शास्त्रों के अनुसार ब्रह्माजी के मानस पुत्रों में से एक हैं । उन्होंने कठिन तपस्या से ब्रह्मर्षि पद प्राप्त किया था । भगवान विष्णु

Read More

तुलसी महात्म्य

मनुष्य के लिए ‘तुलसी’ प्रकृति का एक ऐसा वरदान है , जो अनेक बीमारियों के निवारण में ‘रामबाण’ का काम करता है । तुलसी को

Read More

मां काली के उत्पन्न होने की कथा

मां दुर्गा का विकराल रूप है, मां काली । और यह बात सब जानते हैं कि दुष्टों का संहार करने के लिए मां ने यह

Read More

हनुमान चालीसा से जुड़ा एक रोचक प्रसंग

हनुमान चालीसा में 40 चौपाइयां हैं । जो हनुमान जी की स्तुति में गोस्वामी तुलसीदास जी ने रचित किया है । तुलसीदास 16वीं शताब्दी में

Read More

बारिश की सूचना देने वाला ‘बारिश मंदिर’

भारत में ऐसे कई मंदिर और देवालय हैं , जहां के चमत्कारों पर सहज यकीन नहीं होता है । ऐसी ही एक अनोखी विशेषता वाला

Read More

हिंदू पौराणिक ग्रंथों में बन्दर रूप की चमत्कारी शक्तियां

हिंदी पौराणिक ग्रंथों में इस बात का उल्लेख मिलता है कि बन्दर रूप में दिव्य शक्तियां हुआ करती थी । यह बंदर अलौकिक शक्ति के

Read More

शनि क्यों देते हैं दंड : मां लक्ष्मी और शनि का रोचक संवाद

एक बार लक्ष्मी जी ने शनिदेव से प्रश्न किया कि हे शनिदेव, मैं अपने प्रभाव से लोगों को धनवान बनाती हूं और आप हैं कि

Read More

हनुमान जी के पंचमुखी स्वरूप की कथा

पंचमुखी शब्द का अर्थ होता है, पांच मुख वाला । हनुमान जी का पंचमुखी अवतार पांच मुख का है । हनुमान जी शक्ति , ऊर्जा

Read More